Tuesday, April 23, 2024
Homeउत्तराखण्डटनल हादसाः राहत-बचाओ दल को कांग्रेस विधायक देंगे एक माह का वेतन

टनल हादसाः राहत-बचाओ दल को कांग्रेस विधायक देंगे एक माह का वेतन

-कांग्रेस रैट माइनर्स को करेगी सम्मानित

देहरादून: जनपद उत्तरकाशी स्थित सिलक्यारा सुरंग हादसे के बाद राहत- बचाव में लगे श्रमिकों, रैटहोल माइनर्स सहित बचाव में लगे सभी महत्वपूर्ण तकनीकी कार्मिकों को कांग्रेस पार्टी भी सम्मानित करेगी। उत्तराखण्ड विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने बचाव कर्मियों को सभी कांग्रेस विधायकों का एक माह का वेतन पारितोषिक के रूप में देने की घोषणा की है।
सिलक्यारा टनल हादसे को लेकर राजधानी देहरादून में आयोजित कांग्रेस प्रदेश कमेटी की पत्रकारवार्ता में पार्टी के कई बड़े नेता शामिल हुए। इस दौरान कहा गया कि पार्टी की ओर से रैट माइनर्स को सम्मानित किया जाएगा।

शुक्रवार को आयोजित पत्रकारवार्ता में पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि सिलक्यारा टनल रेस्क्यू बड़ी चुनौती थी। कहा कि श्रमिकों के आत्मविश्वास, इंजीनियर्स, विशेषज्ञ और रैट माइनर्स को धन्यवाद देता हूं।  जाति, धर्म से उठ कर रैट माइनर्स ने काम किया। इसलिए कांग्रेस रैट माइनर्स को सम्मानित करेगी।

हरीश रावत ने कहा कि रैट माइनर्स को सम्मानित करने का सुझाव प्रियंका गांधी ने दिया। इस दौरान उन्होंने सरकार पर कई आरोप लगाए। नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य, उप नेता  प्रतिपक्ष भुवन कापड़ी समेत प्रदेश के कांग्रेस विधायक वर्चुअल तौर पर जुड़े।

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने कहा कि सिलक्यारा की सुरंग से 41 मजदूरों को सुरक्षित निकालना देश के श्रमिकों की कार्यकुशलता और देशवासियों की जान बचाने के लिए अपनी जान को जोखिम में डालने के जज्बे से संभव हुआ है। उन्होंने कहा कि  17 दिनों में देश और प्रदेश की आपदा प्रबंधन की परीक्षा हो रही थी। कहा कि हर देशवासी प्रार्थना कर रहा था कि किसी तरह सुरंग में फंसे कार्मिक सुरक्षित बाहर आ जाएं।

उन्होंने कहा कि सिलक्यारा हादसे से यह भी पता चल गया है कि सरकार और आपदा प्रबंधन कर रहे प्रतिष्ठित संगठनों के पांच प्लान, भारी मशीनरी और करोड़ों रुपयों से जो काम नहीं हो पाया, उस मिशन में अंतिम सफलता रैट होल माइनर्स, अन्य अनाम श्रमिक और साधारण तकनीकी कार्मिकों के कारण मिली है। इन सभी ने अपनी जान को जोखिम में डालकर अपने साथी मजदूरों की जान बचाई है।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सरकार की ओर से रैटहोल माइनर्स को दिया गया 50-50 हजार का पारितोषिक बहुत कम है। सरकार को इसे बढ़ाने के साथ इन कर्मवीर रैट होल माइनर्स के लिए अन्य सुविधाओं की घोषणाएं भी करनी चाहिए।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments