Sunday, July 14, 2024
HomeUncategorizedव्यापारी जयनारायण ने पेश की ईमानदारी की मिसाल, 75 हजार लौटाए

व्यापारी जयनारायण ने पेश की ईमानदारी की मिसाल, 75 हजार लौटाए

रुद्रप्रयाग: रैतोली में एक व्यापारी जयनारायण ने इमानदारी की मिसाल पेश करते हुए एक व्यापारी को उसके ₹75000 लौटा दिए। यात्री दर्शनों के लिए बद्री केदार आया हुआ है। वहीं केदारनाथ यात्रा पर आ रहे तीर्थयात्रियों को पुलिस हर तरह की मदद कर रही है।
गत रात्रि बद्रीनाथ की यात्रा पर आए पूना महाराष्ट्र के संतोश रावत का पर्स व जरूरी सामान रैतोली में हिमांश होटल में छूट गया। सफाई के दौरान होटल के मालिक जयनारायण को जैसे ही इसकी सूचना मिली, दस्तावेजों को देखते हुए उन्होंने संतोश रावत को फोन कर उनके पर्स व जरूरी सामान छूटने की सूचना दी। उक्त व्यक्ति चालीस किमी दूर पहुंचने के बाद वापस हिलांश होटल पहुंचा, और व्यापारी जयनारायण ने सामाना व्यापारी को लौटाया। व्यापारी संतोष ने बताया कि पर्स में 75 हजार रूनए नगद थे, और अन्य जरूरी सामान था। वह बैग पाकर काफी खुश हुआ।
वहीं केदारनाथ धाम की यात्रा पर आ रहे यात्रियों की पुलिस हर संभव मदद कर रही है। केदारनाथ धाम तक घोड़े के माध्यम से पहुंची राजस्थान निवासी सूर्यानी देवी अपने परिजनों से बिछड़ गयी थी। यहां की विषम परिस्थितियों में स्वयं को अकेला पाकर वे काफी परेशान थीं। उनके द्वारा घोड़ा पड़ाव में नियुक्त पुलिस जवानों से अपनी व्यथा बतायी कि उनका पूरा परिवार घोड़ों के माध्यम से यहां के लिए चला था, परन्तु शुरुआत से ही और यहां तक उनको वे लोग कहीं दिखाई नहीं दिये, वे आगे आये होंगे या पीछे रहे होंगे इसका उनको कोई अनुमान भी नहीं था। पुलिस कार्मिकों ने परिजनों का विवरण प्राप्त कर नीचे की चौकियों सहित केदारपुरी में संदेशा भिजवाया गया, परिणाम यह रहा कि इनके पीछे रह चुके परिजन कुछ देर में घोड़ा पड़ाव पर पहुंचे और अपने परिवार के सदस्य के मिलने पर अत्यधिक प्रसन्न हुए। इस बीच पुलिस कार्मिकों ने इन माता जी को ठण्ड के चलते चाय भी पिलवाई गयी थी। सम्पूर्ण परिवार ने पुलिस का आभार प्रकट किया गया।


RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments