Sunday, November 27, 2022
Homeउत्तराखण्डतकनीकी युग में स्मार्ट पुलिस का होना आवश्यक: सीएम धामी

तकनीकी युग में स्मार्ट पुलिस का होना आवश्यक: सीएम धामी

देहरादून : आज मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय परिसर से हंस फाउण्डेशन द्वारा पुलिस विभाग को प्रदान किये गये वाहनों को फ्लैग ऑफ किया। फाउण्डेशन द्वारा ये वाहन उत्तराखण्ड पुलिस को हिल पैट्रोलिंग व इमरजेंसी रिस्पॉन्स हेतु दिये जा रहे हैं। इसमें उत्तराखण्ड पुलिस को 101 वाहन प्रदान किये जा रहे हैं। आज 21 वाहन प्रदान किये गये।

सीएम धामी ने हंस फाउण्डेशन के संस्थापक को उत्तराखण्ड पुलिस को दिये गये इस सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि आज के तकनीकी युग में स्मार्ट पुलिस का होना आवश्यक है। उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा कोरोना काल में सराहनीय कार्य किया गया। लोगों की सुरक्षा के लिए पुलिस द्वारा हर संभव प्रयास किये गये। राज्य में स्मार्ट पुलिस हो इसके लिए लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। हंस फाउण्डेशन द्वारा पुलिस व्यवस्थाओं में सुधार लाने के लिए जो सहयोग दिया जा रहा है, यह जन सेवा करने में काफी कारगर साबित होगा। हंस फाउण्डेश ने राज्य को हर क्षेत्र स्वास्थ्य, शिक्षा एवं अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्रों में हर संभव मदद दी है। कोरोना काल में भी स्वास्थ्य सुविधाओं के साथ ही खाद्यान की उपलब्धता फाउण्डेशन द्वारा कराई गई।

इस मौके पर माता मंगला जी ने कहा कि आज का दिन उत्तराखण्ड के लिए हर्ष का दिन है। उत्तराखण्ड की भौगोलिक परिस्थितियां अलग हैं। हिल पैट्रोलिंग व इमरजेंसी रिस्पॉन्स हेतु उत्तराखण्ड पुलिस को जो वाहन मिले हैं, इससे जन सेवा के लिए अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने में आसानी होगी। उत्तराखण्ड में स्वास्थ्य एवं सुरक्षा की समस्याओं के समाधान के लिए हंस फाउण्डेशन द्वारा हर संभव सहयोग दिया जायेगा। आज पुलिस को 21 वाहन मिलने से राज्य के 21 क्षेत्रों के लिए सुरक्षा कवच मिल जायेगा।

पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने भी हिल पैट्रोलिंग व इमरजेंसी रिस्पॉन्स हेतु पुलिस को उपलब्ध कराये गये वाहनों के लिए हंस फाउण्डेशन के संस्थापक भोले जी महाराज एवं माता मंगला जी का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि इन वाहनों के आने से पुलिस को हिल पैट्रोलिंग व इमरजेंसी रिस्पॉन्स के लिए काफी सुविधा होगी। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने स्मार्ट पुलिस की जो परिकल्पना की है, इस दिशा में यह एक अच्छा प्रयास है। इससे उत्तराखण्ड पुलिस को जन सेवा करने में और सुगमता होगी।

इस दौरान हंस फाउण्डेशन के संस्थापक भोले जी महाराज, माता मंगला जी, पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार और पुलिस विभाग के सभी वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments